शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है

शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है?

शेयर मार्किट (शेयर मार्किट क्या है, शेयर मार्किट के फायदे, शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है?, शेयर मार्किट के नुकसान, शेयर मार्किट और स्टॉक मार्किट में अंतर क्या है, शेयर मार्किट में ट्रेडिंग क्या है, स्टॉक मार्किट क्या है, स्टॉक मार्किट के फायदे, शेयर मार्केट और स्टॉक मार्केट में क्या फर्क है?, स्टॉक मार्किट में पैसे कैसे इन्वेस्ट करें)

Share Market (What is share market in hindi, Advantages of share market, Disadvantages of share market, शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है Benefits of share market in hindi, difference between stock market, Share market in hindi, What is stock market, What is stock market in hindi, Diffrence between shar market and stock market, Stock market advantages)

तो दोस्तों क्या आप जानते है कि स्टॉक मार्किट क्या है , और क्या आप यह भी जानते है कि स्टॉक मार्किट और शेयर मार्किट में अंतर क्या है । तो दोस्तों आज हम आपको शयर मरकट और सटक एहि बताने वाले है कि स्टॉक मार्किट और शेयर मार्किट में अंतर क्या है। तो शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है आपने फिल्मों या इंटरनेट वीडियोस में ज़रूर ही देखा होगा की जो एक्टर्स या विलन होते है, उनमें से कई एक्टर्स स्टॉक मार्किट और शेयर मार्किट के बारे में ही बात कर रहे होते है।

तो आपके मन में ये सवाल ज़रूर आता होगा कि शेयर मार्किट और स्टॉक मार्किट में अंतर क्या है या शेयर मार्किट क्या है , तो आपको मरकट और सटक म यही बताने के लिए इस पोस्ट में आपका स्वागत है। और अगर आपको यह भी जानना है कि शेयर मार्किट के फायदे क्या है और स्टॉक मार्किट के फायदे क्या है। तो आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

स्टॉक मार्किट क्या है

स्टॉक का मतलब किसी कंपनी के शेयर को दिखता है जिसपे उस व्यक्ति कि हिस्से दारी होती है। stocks में जिसकी हिस्से दारी दिखती है, वह व्यक्ति अपने शेयर किसी और व्यक्ति को भी बेच सकता है। अब हम जानेगे की शेयर मार्किट क्या है जैसे की हम जानते है कि शेयर शब्द जो कि इंग्लिश का है, और हम अंश और स्टॉक में अंतर यह भी जानते है कि इसका मतलब हिस्सा होता है। तो जाहिर सी बात है कि शेयर को हम किसी और को हिस्सा देना कह सकते है।

अगर हम शेयर को गहराई से देखें, तो शेयर जो भी कंपनी का शेयर होता है। अगर यह शेयर कोई और व्यक्ति खरीदता है। तो आधी कंपनी जितने भी उस कंपनी के शेयर्स की लिमिट होती है। उतना कंपनी का हिस्सा उस व्यक्ति का हो जाता है। जिसे हम एक कंपनी के टुकड़े कह सकते है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है और जब कंपनी घाटे में होती है, तब ही कंपनी यह कदम उठती है।

स्टॉक मार्केट का मतलब क्या है?

स्टॉक मार्किट एक ऐसी खिचड़ी है, जिसमें अलग – अलग कंपनी अपनी कंपनी के शेयर्स आम जनता को देती है। और कंपनी यह कदम तब उठाती है जब उनका कारोबार डूबने वाला होता है। तो कई बार देखा जाए तो कंपनी के स्टॉक्स और शेयर इतने गिर जाते है कि उनके शेयर्स कोई मजदूर भी शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है खरीद ले। स्टॉक मार्किट एक ऐसी जगह है, जहाँ कोई भी कभी भी गिर सकता है शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है या फिर कोई भी उठ सकता है।

शेयर बाजार क्या है

शेयर मार्किट का मतलब है कि जब कोई कंपनी सार्वजनिक रूप से तय कर लेती है। कि वह अपनी कंपनी के शेयर्स देगी तो उससे उस कंपनी को नुक्सान और फायदा दोनों ही होता है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है जब कोई सौंपने अपने शेयर्स बेचती है, तो कोई भी व्यक्ति पैसे देकर उस कंपनी का पार्टर बन जाता है।

उदाहरण :- अगर कोई कंपनी अपनी कंपनी के 100% शेयर्स बेचती है, तो आप उस कंपनी के 50% शेयर्स खरीद लेते है तो आप उस कंपनी के आधे मालिक बन जाते है।

शेयर मार्किट या स्टॉक मार्किट कितने प्रकार के होते है

  • मामूली शेयर्स

इन शेयर्स को कोई भी खरीद सकता है, और उस व्यक्ति कि ज़रुरत अनुसार बेच भी सकता है । यह सबसे आम तरीके के शेयर्स के बीच आता है। जिससे हम इंग्लिश में Common Shares कहते है।

  • बोनस शेयर्स

अगर हम इसका मोटा – माटी समझे तो जब कोई कंपनी कुछ ज़्यादा मुनाफा कमा रही होती है। उस कंपनी का मालिक कंपनी के कुछ शेयर्स देता है जिसे हम दान भी कह सकते है पर आज कल यह कोई भी नहीं करता है। दान शब्द मैंने इस लिए कहा क्युकि जब वह कंपनी बोनस शेयर्स देती है शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है तो वह शेयर कोई व्यक्ति लेता है। तो उस व्यक्ति को उस शेयर्स कि कीमत नहीं देनी पढ़ती है।

  • प्रेफर्ड शेयर्स

अगर हम प्रेफर्ड शेयर्स कि बात करें तो यह शेयर्स सबसे सेफ या सुरक्षित माने जाते है। कई कंपनी जब मार्किट से पैसा कामना चाहती है तो शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है वह अपने शेयर्स कुछ ख़ास लोगों को ही ऑफर करते है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है जिससे उनके शेयर्स सेफ और सुरक्षित भी रहते है।

स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग क्या है

ट्रेडिंग शब्द का नाम तो हर किसी ने कभी न कभी सुना ही होगा । स्टॉक्स मार्किट में ट्रेडिंग को बड़े ही ख़ास नज़रिये से देखा गया है। अगर हम ट्रेडिंग को देखे तो ट्रेडिंग में कोई व्यक्ति एक बार पैसे लगाकर उस चीज़ को खरीदने के बाद उसके जब रेट बढ़ने लगते है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है तब उस चीज़ को बेचने के बाद जो भी अच्छा लाभ होता है, उसे हम ट्रेडिंग कहते है।

उदाहरण :- ट्रेडिंग में जब कोई व्यक्ति स्टोक्स खरीदता है तो उसे वह व्यक्ति काम दाम में खरीदता है, पर जब उस स्टॉक्स या शेयर्स के दाम बढ़ने लगते है। तो फिर वह व्यक्ति उस स्टॉक्स या शेयर्स को भारी दाम में बेचकर खरीदी रकम से कई दुगना पैसा कमा लेता है।

ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है

ट्रेडिंग के कई प्रकार के होते है, पर मुख्या रूप से ट्रेडिंग 3 तीन प्रकार की होती है।

  • स्कल्पर ट्रेडिंग (Scalper Trading)

अगर हम इस ट्रेडिंग की बात करें तो यह ट्रेडिंग काफी मुनाफा कमा के देती है। पर इसके उतने ही नुक्सान भी होते है, क्यूंकि यह हमे 10 से 20 मिनट में ही काफी ज़्यादा पैसे कमा कर देती है । पर इसमें इन्वेस्ट करने के लिए भी काफी पैसे इन्वेस्ट करने पढ़ते है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है अगर इन पैसों के कोई शेयर नहीं खरीदता है तो इसमें काफी भारी पैसों का नुक्सान भी होता है। और अगर यह ही शेयर्स कोई खरीद लेता है, तो व्यक्ति का काफी ज़्यादा फायदा भी होता है। जिससे हम स्कल्पर ट्रेडिंग भी कहते है।

  • इंट्रा डे ट्रेडिंग (Intra day Trading)

इंट्रा डे ट्रेडिंग ऐसी ट्रेडिंग होती है जिसमें आज ही स्टॉक्स खरीदे और आज ही उन स्टॉक्स को बेचना पढता है।

  • स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading)

यह बहुत ही देर समय तक चलने वाली ट्रेडिंग होती है, जिसमें एक व्यक्ति शेयर्स खरीदता है। फिर बाद में इस शेयर्स को कुछ दिन अपने पास ही रखता है, फिर जब इस शेयर्स के दाम आसमान चुने लगते है फिर वह व्यक्ति इन शेयर्स को बहुत ही ज़्यादा दाम में बेचकर कर पैसे कमाता है। शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है इस ट्रेडिंग में व्यक्ति को थोड़ा सबर और सयम से काम लेना पढता है।

शेयर मार्किट के फायदे

1.शेयर मार्किट में जब कोई व्यक्ति इन्वेस्ट करता है तो उसे कम समय में अपना इन्वेस्ट किया हुआ पैसा दुगने में वापस आ जाता है।

2. शेयर मार्किट का सबसे बड़ा फायदा यह है कि व्यक्ति जितना पैसा साल में कमाता है। शेयर मार्के में एक साल का पैसा एक दिन में ही कमा सकता है।

3. जब कोई व्यक्ति पब्लिक लिस्ट वाला शेयर ख़रीददता है उस शेयर्स में वह कंपनी का आधा मालिक होकर उस कंपनी को कंट्रोल कर सकता है।

4. शेयर मार्किट को हम बहुत अच् आसीदे इनकम कमाने का जरिया समझ सकते है। पर आज कल लोग इस कम को ही जॉब बनाकर दिन भर यही कम कर रहे है।

5. शेयर मार्किट में सबसे अच्छा फायदा यही है कि इसमें कम समय में ज़्यादा पैसे कमा सकते है।

6. शेयर मार्किट से कमाई गयी रकम को अछि जगह सेव करने से फ्यूचर भी अच्छा रहता है।

शेयर मार्किट के नुक्सान

1.शेयर मार्किट में सबसे बड़ा नुक्सान यही है कि जो शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है शेयर मार्किट पर इन्वेस्ट करता है वो ह व्यक्ति अनुभवी नहीं होता है । जिससे उसे कई सारे घाटे भी लग सकते है।

2.शेयर मार्किट में इन्वेस्ट किया हुआ, पैसा कभी भी डूब सकता है।

3. शेयर मार्किट में शेयर्स के रेट घटते – बढ़ते रहते है, जिससे व्यक्ति को कई मुश्किलों का सामान भी करना पढता है।

4. शेयर मार्किट में शेयर्स को खरीद लेना तो बहुत आसान होता है पर वही शेयर्स ना बिके तो इन्वेस्ट किया हुआ पैसा डूब जाता है।

5. शेयर मार्किट में कोई भी कंपनी जल्दी अपने शेयर्स नहीं बेचती है, जिससे इन्वेस्टर को काफी नुक्सान झेलना पढता है।

6. शेयर मार्किट का सबसे बड़ा नुक्सान यह होता है कि कोई भी व्यक्ति इसकी साड़ी जानकारी के बिना ही इसपर इन्वेस्ट करने लगता है।

शेयर मार्किट को सबसे खतरनाक खेल मन जाता है। क्यूंकि लोगों का मानना है कि इसमें कोई भी इन्वेस्ट करने वाला व्यक्ति का पैसा कभी भी डूब सकता है। पर यह कथन बिलकुल गलत है, शेयर मार्किट और ट्रेडिंग में व्यक्ति अपनी अपनी सूझ – भूज और दिमाग से काफी पैसे कमा सकता है पर शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है कई लोग इसको बूरा मानते है। अगर इसमें कोई पैसे इन्वेस्ट करता है शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है और वह व्यक्ति अपने पक्के इरादे और लगन से शेयर मार्किट का राजा या अच्छा अनुभवी बन सकता है ।

FAQ – शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है? – शेयर मार्केट कैसे सीखे

क्या शेयर मार्केट में पैसा लगाना अच्छा है?

Ans : शेयर मार्किट में पैसा लगाना जितना अच्छा है, उतना ही रिस्क भी है। आप रिस्क पर इसपर इन्वेस्ट कर सकते है।

भविष्य में कौन सा शेयर सबसे ज्यादा रिटर्न देता है?

Ans : भविष्य में बरोदा रयोन्स इंडस्ट्रीज शेयर सबसे ज्यादा रिटर्न देता है।

1 दिन में शेयर बाजार में कितना पैसा कमा सकते हैं?

Ans : 1 दिन में शेयर बाजार 15000 – 25000 पैसा कमा सकते हैं।

शेयर खरीदने का सही समय क्या है?

Ans : मैं जहाँ तक जानता हूँ सुबह 9:15 से दुपहर 3:25 वजे तक।

क्या शेयर मार्केट और स्टॉक मार्केट एक ही है?

Ans : हाँ ! शेयर मार्किट और स्टॉक मार्किट एक ही है बस नाम में ही अंतर है ।

स्टॉक मार्केटिंग का मतलब क्या होता है?

Ans : स्टॉक का मतलब किसी कंपनी के शेयर को दिखता है जिसपे उस व्यक्ति कि हिस्से दारी होती है। stocks में जिसकी हिस्से दारी दिखती है, वह व्यक्ति अपने शेयर किसी और व्यक्ति को भी बेच सकता है।

स्टॉक और शेयरों में क्या अंतर है?

Ans : स्टॉक्स में जिस कंपनी में व्यक्ति के शेयर्स होते है उसे स्टॉक्स कहते है। पर शेयर्स जो किसी कंपनी के आधे हिस्से को उसके नाम करते है, उसे शेयर्स कहते है।

Conclusion:

तो मैंने आज आपको सिखाया कि शेयर मार्किट क्या है , स्टॉक मार्किट क्या है , शेयर मार्किट का क्या मतलब है , स्टॉक मार्किट का क्या मतलब है , शेयर मार्किट या स्टॉक मार्किट कितने प्रकार के होते है , स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग क्या है और शेयर मार्किट के फायदे और नुकसान क्या है । शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है शेयर बाजार और स्टॉक बाजार में क्या फर्क है तो दोस्तों आपको यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट ज़रूर करें । आपका इस पूरी पोस्ट पढ़ने का धन्यवाद।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *